'दबाव में मांगी गई माफ़ी कभी दिल से नहीं होती', बीजेपी प्रवक्ता द्वारा बयान वापस लेने पर बोले अभिनेता फरहान अख्तर

दबाव में मांगी गई माफ़ी कभी दिल से नहीं होती, बीजेपी प्रवक्ता द्वारा बयान वापस लेने पर बोले अभिनेता फरहान अख्तर

मुंबई: भारतीय जनता पार्टी की प्रवक्ता द्वारा मोहम्मद पैगंबर को लेकर दिए टिप्पणी से दुनिया भर में भारतीय जनता पार्टी और भारत सरकार की आलोचना हो रही है. भारत में भी इसको लेकर तीखी प्रतिक्रियाएं सामने आई हैं. बीजेपी प्रवक्ता के बयान के बाद दो समुदायों के बीच हिंसात्मक टकराव भी देखने को मिला है.

मशहूर लेखक जावेद अख्तर के बेटे, अभिनेता फरहान अख्तर की प्रतिक्रिया भी सामने आई है. फरहान ने बिना नाम लिए ट्वीट कर कहा है कि, 'दबाव में मांगी गई माफ़ी कभी दिल से नहीं होती'.

आपको बता दें कि पैगंबर मोहम्मद पर बीजेपी प्रवक्ता द्वारा विवादित टिप्पणी करने के बाद कई सारे इस्लामिक देशों ने इस पर आपत्ति जताई है. आपत्ति जताने वाले देशों में पाकिस्तान, सऊदी अरब, कतर, कुवैत और ईरान जैसे देश का नाम शामिल है. इन देशों ने बीजेपी प्रवक्ता के बयान की कड़ी निंदा की है.

भारतीय जनता पार्टी ने नूपुर शर्मा पर बड़ी कार्रवाई करते हुए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है.

मामले पर विवाद बढ़ता देख बीजेपी प्रवक्ता ने अपना बयान वापस ले लिया है. लेकिन अपने बयान पर अब तक माफी नहीं मांगी है.

रविवार को बीजेपी प्रवक्ता ने सोशल मीडिया पर के बयान जारी कर कहा है कि, 'मैं पिछले कई दिनों से टीवी डिबेट पर जा रही थी, जहां रोज़ाना मेरे आराध्य शिव जी का अपमान किया जा रहा था. मेरे सामने यह कहा जा रहा था कि वो शिवलिंग नही फ़वारा हैं, दिल्ली के हर फुटपाथ पर बहुत शिवलिंग पाए जाते हैं जाओ जा के पूजा कर लो. मेरे सामने बार बार इस प्रकार से हमारे महादेव शिव जी के अपमान को मैं बर्दाश्त नही कर पाई और मैंने रोष में आके कुछ चीजें कह दी. अगर मेरे शब्दों से किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँची हो तो मैं अपने शब्द वापिस लेती हूँ. मेरी मंशा किसी को कष्ट पहुँचाने की कभी नहीं थी.'


Next Story
Share it
Top
To Top